मुंह में छाले हो या गला बैठा हो मुलेठी से राहत मिलेगी, यह पेट में ऐंथन और दर्द दूर कर रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ाती है।

0
0 views
मुंह में छाले हो या गला बैठा हो मुलेठी से राहत मिलेगी, यह पेट में ऐंथन और दर्द दूर कर रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ाती है।


  • हिंदी समाचार
  • सुखी जीवन
  • कोरोनावायरस आयुर्वेद प्रतिरक्षा | कोरोनावायरस मुलेठी प्रतिरक्षा के लिए महान है; जानिए क्या है लाईसेंस का लाभ

2 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट
  • मुलेठी के पाउडर को शहद के साथ ले सकते हैं या इसके छोटे सा टुकड़े मुंह में डालकर चूसें
  • यूरिन में जलन और बार-बार यूरिन होने पर मुलेठी का पाउडर गर्म दूध के साथ पिएं

बारिश गई है और हवाओं में हल्की ठंडक घुलने लगी है। मौसम में हुए इस बदलाव के कारण गले में कई तरह की समस्याएं होती हैं। इसमें ख़राश होना, हल्का दर्द होना, गला बैठना जैसे कई दिक़्क़तें आती हैं। मुलेठी का इस्तेमाल करके रोगों से लड़ने की क्षमता को बढ़ाया जा सकता है और येसे बचा जा सकता है। जानिए, मुलेठी कब-कब इस्तेमाल किया जा सकता है …

1. मुंह के छाले दूर करता है
मुलेठी का छोटा टुकड़ा मुंह में रखकर चूसने से मुंह के छाले ठीक होते हैं। इसके पाउडर को थोड़े से शहद में मिलाकर खाने से काफ़ी आराम मिलता है।

2. गले की समस्याएं
गले की सूजन, इंफेक्शन, ख़राश, गला बैठने पर मुलेठी का एक टुकड़ा लेकर उसे चूसें। इससे मुंह और गले की दिक्कतों से राहत मिलेगी।

3. यूरिन इंफेक्शन में राहत
यूरिन में जलन और बार-बार यूरिन आने की समस्या को दूर करने के लिए मुलेठी सबसे अच्छा उपाय है। इसके लिए 2-4 ग्राम मुलेठी पाउडर को गर्म दूध के साथ पिएं, फ़ायदा होगा।

4. पेट की मुश्किल दूर होगी
पेट और आंतों में ऐंठन होने पर मुलेठी का पाउडर शहद के साथ दिन में 2-3 बार खाट। पेट दर्द, सूजन और ऐंठन दूर होगी।

5. मासिक की समस्या में सुधार होता है
5 ग्राम मुलेठी पाउडर थोड़े शहद में मिलाकर चटनी जैसा बनाएं। इसे खाकर ऊपर से ठंडा दूध घूंट-घूंट कर पीने से मासिक स्राव नियमित हो जाता है। दूध-मिश्री संग मिलाकर भी पी सकते हैं।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here