पैदल चलना क्यों जरूरी है: 3 मिनट की वॉक बढ़ा हुआ ब्लड प्रेशर बती है और मोटापा कम करना है तो खाना खाने के बाद 30 मिनट पैदल चलना है।

0
1 views
पैदल चलना क्यों जरूरी है: 3 मिनट की वॉक बढ़ा हुआ ब्लड प्रेशर बती है और मोटापा कम करना है तो खाना खाने के बाद 30 मिनट पैदल चलना है।


विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

25 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट
  • रिसर्चर्स का कहना है, पैदल चलना से ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर कंट्रोल होता है
  • पैदल चलने से शरीर में दर्द कम करने वाला हार्मोन एंडॉर्फिनॉर्म रिलीज होता है

ब्लड प्रेशर घटाना है तो 3 मिनट वॉक करें और शरीर की चर्बी कम करनी है तो खाना खाने के बाद 30 मिनट पैदल चलना होगा। कई शोध में यह साबित हो चुका है कि पैदल चलते हैं तो कई तरह से शरीर को फायदा पहुंचता है। वैज्ञानिक कहते हैं, वॉक करते समय आप कितनी गति से जा रहे हैं, शरीर पर इसका भी असर पड़ता है। जानिए, वॉकिंग से जुड़ी रिसर्च क्या कहती हैं …।

वॉक उठती है आपकी मेमोरी
6 हजार महिलाओं पर हुई Yanukovych यूनिवर्सिटी की स्टडी कहती है, अगर एक महिला 4 किलोमीटर रोजाना वॉक करती है तो उसकी मेमोरी घटने का खतरा 17 फीसदी तक घट जाता है। इसे आम भाषा अल्जाइमर्स भी कहते हैं।

रात में नींद नहीं आती है तो सुबह एक घंटे टहलने जाते हैं
वैज्ञानिकों का कहना है, रात की नींद और सुबह चलने के बीच कनेक्शन है। अमेरिका के फ्रेड हचिंसन रिसर्च सेंटर ने इस पर रिसर्च की। शोध में सामने आया कि 50 से 75 साल की उम्र वाले लोग अगर सुबह 1 घंटे की मॉर्निंग वॉक करते हैं तो अनिद्रा की समस्या दूर जाती है।

ब्रिटिश जर्नल स्पोर्ट्स में प्रकाशित रिसर्च के मुताबिक, पैदल चलने से शरीर में दर्द को खत्म करने वाला एंडॉर्फिनॉर्म रिलीज होता है जो कई तरह से फायदा पहुंचता है।

पैदल चलना के इन फायदों को भी समझना होगा
वैज्ञानिकों का कहना है, पैदल चलने से ब्रेन ब्लड का सर्कुलेशन बढ़ता है। इसे समझने के लिए 1999 में 60 लोगों पर रिसर्च की गई। उन्हें एक दिन में 45 मिनट की वॉक कराई गई। 15 मिनट के सामान्य चलने के बाद उन्होंने अपनी क्षमता के अनुसार स्पीड बढ़ाई। रिजल्ट में सामने आया कि जिसने रोजाना ऐसा किया वो दिमागी तौर पर स्वस्थ रहा।

रिसर्चर्स का कहना है, पैदल चलना से ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर कंट्रोल होता है। इससे हार्ट डिसीज, डायबिटीज और फेफड़ों से जुड़ी बीमारियों का खतरा घटता है।

ये भी पढ़ें





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here